UP Gram panchayat Chunav 2020

ग्राम पंचायत चुनाव उत्तर प्रदेश 2020 प्रधान/सरपंच जिला वार तारीख

ग्राम प्रधान का चुनाव कब होगा 2020 | ग्राम पंचायत चुनाव उत्तर प्रदेश 2020 प्रधान/सरपंच जिला वार तारीख | Gram Panchayat Chunav Uttar Pradesh 2020 | जिला पंचायत सदस्य चुनाव 2020 date | त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव उत्तर प्रदेश | ग्राम पंचायत चुनाव उत्तर प्रदेश २०२० कब होगा:- ग्राम पंचायत चुनाव उत्तर प्रदेश 2020 के चुनाव तय समय पर ही होंगे। ऐसी अफवाह चल रही थी की कोरोना में लॉकडाउन की वजह से यह चुनाव टाल दिए जाएंगे लेकिन ऐसा नहीं है, इसके संकेत खुद राज्य के पंचायती राज मंत्री चौधरी भूपेंद्र सिंह ने दिए हैं। चौधरी भूपेंद्र सिंह ने कहा कि पिछले 5 साल में प्रदेश के करीब 1000 ग्राम सभाओं शहरी क्षेत्र में विलय हो गया है। भारत में प्रत्येक पांच साल में पंचायत के चुनाव संपन्न कराये जाते हैं। उत्तर प्रदेश में पिछली बार वर्ष 2015 में पंचायत चुनाव कराये गए थे। अब वर्ष 2020 के अंत में यूपी ग्राम पंचायत कराये जाने की सम्भावना है।राज्य निर्वाचन आयोग, उत्तर प्रदेश द्वारा 2020 में होने वाले पंचायत चुनावो के लिए कुछ नए बदलावों पर मोहर लगायी है। इस बार पंचायत चुनाव पांच या उससे अधिक चरणों में कराए जा सकते हैं। यह फैसला उत्तर प्रदेश जैसे विशाल राज्य में पारदर्शी चुनावी प्रक्रिया सुनिश्चित करने के उद्देश्य से किया गया है।

ग्राम पंचायत चुनाव उत्तर प्रदेश 2020

इस सम्बन्ध में उत्तर प्रदेश चुनाव आयोग द्वारा जल्द अधिसूचना जारी की जाएगी। सभी इच्छुक व्यक्ति उत्तर प्रदेश चुनाव आयोग की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से ग्राम पंचायत चुनाव उत्तर प्रदेश 2020 के लिए वोटर लिस्ट में अपना नाम खोज सकते हैं। आप पंचायत राज विभाग की आधिकारिक वेबसाइट से अपडेटेड यूपी ग्राम पंचायत वोटर लिस्ट 2020 में अपना नाम खोज सकते हैं। उन्होंने आगे बताया कि राज्य के 48 जिले विस्तार से प्रभावित हुए हैं। इनमें उतने क्षेत्र में ही परिसीमन होगा जो आंशिक रूप से पंचायत में शामिल हैं। सिंह साहब ने 2015 के चुनावों का जिक्र करते हुए कहा मुरादाबाद, संभल और गौ्ण्डा का बीते चुनाव में परिसीमन नहीं हो पाया था। आपक बता दें अब कुल 51 जिलो में नए सिरे से वार्डो का परिसीमन किया जाएगा। इसके बाद जैसे ही वार्ड बन जाएंगे वोटरर्स लिस्ट राज्य निर्वाचन आयोग को सौंप दी जाएगी। इसके बाद वोटर लिस्ट का वृहद पुनरीक्षण का काम शुरू करवा देगा।

उत्तर प्रदेश ग्राम पंचायत चुनाव की ताजा खबर

प्यारे दोस्तों कोरोना महामारी के चलते तैयारियां नहीं होने पाने के कारण उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव समय से नहीं हो पाएंगे। पंचायती संस्थाओं का कार्यकाल पूरा होने से पहले ही उनमें प्रशासक तैनात कर दिए जाएंगे। ग्राम पंचायत में सहायक विकास अधिकारी (पंचायत), क्षेत्र पंचायत में उप जिलाधिकारी और जिला पंचायत में जिलाधिकारी को प्रशासक बनाने की तैयारी है। ग्राम पंचायत चुनाव का ऐलान हो गया है. अगले वर्ष 2020 जनवरी-व फरवरी माह में पंचायत चुनाव होंगे. राज्य निर्वाचन आयोग ने आदेश जारी किये है. राज्य निर्वाचन आयोग ने पंचायत चुनाव वर्ष 2020 का कार्यक्रम घोषित कर दिया है. जनवरी-फरवरी महीने में पंचायत चुनाव संपन्न कराए जाएंगे. राज्य निर्वाचन आयोग ने इसके आधिकारिक आदेश जारी कर दिए हैं. विस्तृत कार्यक्रम दिसंबर के अंत तक घोषित किया जाएगा.

यूपी पंचायत चुनाव 2020 कब होगा

मित्रों से जुडी अब नई रोचक जानकारी सामने आ रही है। 19 अगस्त को अपर निवार्चन आयुक्त वेद प्रकाश वर्मा ने सभी जिला अधिकारियों को एक पत्र जारी किया, जिसमें कहा गया कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए वोटर लिस्ट के पुनरीक्षण  का कार्य पहली सितम्बर से शुरू करने पर आयोग विचार कर रहा है,| इसलिए पंचायतों की वोटर लिस्ट के पुनरीक्षण के लिए शुरुआती प्रबंध करवाए जाएं। मगर उसी दिन आयोग ने पत्र वापस भी ले लिया। अब ऐसा होने की वजह से असमंजस की स्तिथि उत्पन्न हो गई है।

Name of Articleग्राम पंचायत चुनाव उत्तर प्रदेश 2020
Launched byState Election Commission, Uttar Pradesh
ElectionVillage Panchayat
Election phase2
Article ObjectiveCheck Online Gram Panchayat Voter List
Election CommissionerSunil Arora
Article underState Government
Name of StateUttar Pradesh
Post Categoryjankari updates
Official Websitehttp://sec.up.nic.in/

मित्रों उत्तर प्रदेश में ग्राम पंचायत चुनाव जनवरी-फरवरी में होने की अफवाह पर विराम लग गया है. इलेक्शन कमीशन के एक अधिकारी द्वारा इस बात की पुष्टि की गई है कि यह पंचायत चुनाव अगले वर्ष नवंबर-दिसंबर माह में करवाए जाएंगे. इसका कारण यह है कि पिछली पंचायत का कार्यकाल नवंबर दिसंबर में पूरा होगा जो कि 2015 में गठित की गई थी.

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव उत्तर प्रदेश

उसका कार्यकाल पूरा होने के बाद चुनाव करवाए जाएंगे. सोशल मीडिया पर कुछ दिनों से चल रही अफवाहों में यह दावा किया जा रहा था कि इस बार के पंचायत चुनाव जल्दी होने के आसार हैं. लेकिन ऐसी कोई भी बात नहीं है. उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव 2020 की महत्वपूर्ण तिथियां जल्द ही हम अपनी वेबसाइट पर आपको प्रदान करेंगे. यह महत्वपूर्ण डेट्स आधिकारिक नोटिफिकेशन आने के बाद ही यहां पर उपलब्ध करवाई जाएंगी. जिसके लिए आपको कुछ समय इंतजार करना होगा. उत्तर प्रदेश में पंचायत/सरपंच चुनाव संपन्न कराने की जिम्मेदारी निर्वाचन आयोग पर है। यदि आप उत्तर प्रदेश पंचायत चुनावो में हिस्सा लेना चाहते है तो आप चुनाव आयोग की आधिकारिक वेबसाइट के द्वारा अपडेटेड जानकारी प्राप्त कर सकते है।

पंचायत राज प्रणाली की मुख्य विशेषताएं:

  1. ग्राम सभा एक निकाय है जिसमें निर्वाचक नामावलियों में पंजीकृत सभी लोग शामिल होते हैं जो ग्राम स्तर पर पंचायत के क्षेत्र में शामिल एक गाँव के होते हैं। ग्राम सभा पंचायती राज व्यवस्था में सबसे छोटी और एकमात्र स्थायी इकाई है। ग्राम सभा की शक्तियां और कार्य राज्य विधायिका द्वारा विषय पर कानून के अनुसार तय किए जाते हैं।
  2. ग्राम पंचायत चुनाव उत्तर प्रदेश 2020 में सीटें अनुसूचित जाति (एससी) और अनुसूचित जनजाति (एसटी) के लिए आरक्षित हैं और सभी स्तरों पर पंचायतों के अध्यक्ष अपनी आबादी के अनुपात में एससी और एसटी के लिए आरक्षित हैं।
  3. कुल सीटों की एक तिहाई सीटें महिलाओं के लिए आरक्षित की जानी हैं। एससी और एसटी के लिए आरक्षित एक-तिहाई सीटें भी महिलाओं के लिए आरक्षित हैं। आरक्षित सीटों को पंचायत में विभिन्न निर्वाचन क्षेत्रों के लिए रोटेशन द्वारा आवंटित किया जा सकता है।
  4. एक समान नीति है जिसमें प्रत्येक शब्द पांच वर्ष का है। कार्यकाल समाप्त होने से पहले नए सिरे से चुनाव कराए जाने चाहिए। विघटन की स्थिति में, छह महीने के भीतर अनिवार्य रूप से चुनाव (अनुच्छेद 243 ई)।
  5. पंचायतों के पास आर्थिक विकास और सामाजिक न्याय के लिए योजनाओं को तैयार करने की जिम्मेदारी है, क्योंकि यह कानून के अनुसार विषयों के संबंध में है, जो ग्यारहवीं अनुसूची (अनुच्छेद 243 जी) में वर्णित विषयों सहित पंचायत के विभिन्न स्तरों तक विस्तृत है।
panchayat election till 15 december
अधिसूचना जारी होने की तिथि :–/जनवरी/2020
नामांकन भरने की तिथि :–/जनवरी/2020
नामांकन भरने का आखिरी दिन :–/जनवरी/2020
आयोग द्वारा प्राप्त आवेदनों की जांच :–/जनवरी/2020
चयनित प्रत्याशियों की सूची जारी :–/जनवरी/2020
चुनाव की तिथि :–/जनवरी/2020
मतगणना की डेट :–/जनवरी/2020

उत्तर प्रदेश के त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव अक्टूबर में प्रस्तावित हैं। पंचायत चुनाव लड़ने के इच्छुक कार्यकर्ताओं से निरंतर सेवा कार्यों में जुटे रहने को कहा गया है तो दूसरी तरफ इस बात का भी ध्यान रखा जा रहा है कि पंचायत चुनाव के समय परिवारवाद से बचा रहा जाए। इसीलिए पंचायत चुनाव की जिम्मेदारी संभालने वालों को खुद और अपने परिवार के लिए टिकट मांगने की मनाही कर दी गई है। पंचायत चुनाव प्रभारी महामंत्री विजय बहादुर पाठक का कहना है कि वैसे तो अभी पार्टी कोरोना संक्रमण से बने विकट हालात से निपटने में जुटी है। साथ ही राजनीतिक गतिविधियों पर भी नजर रखी जा रही है। इस बार गांवों को आत्मनिर्भर बनाने का उद्देश्य लेकर भाजपा पूरी ताकत से पंचायत चुनाव में उतरेगी। कल्याणकारी योजनाओं से ग्रामीण क्षेत्रों में भाजपा के पक्ष में अनुकूल माहौल है। बूथ व सेक्टर स्तर पर संगठनात्मक सक्रियता का लाभ भी मिलेगा।

ताज़ा जानकारी:- उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस का असर पंचायत चुनाव पर भी पड़ता नजर आ रहा है। निर्वाचन आयोग ने चुनाव को सही समय पर करवाने के लिए फरवरी व मार्च में कार योजना बनाई थी। लेकिन अब यह योजना लटकी हुई दिखाई पड़ रही है। मतपत्रों की छपाई, मतपेटियों व चुनाव सामग्री आदि की आपूर्ति के लिए टेण्डर प्रक्रिया पूरी नहीं हो सकी। अब वोटर लिस्टके पुनः निरीक्षण के लिए भी नए सिरे से कार्य योजना तैयार की जाएगी। इसके लिए प्रदेश सरकार ने 490 करोड़ रूपये जारी कर दिये हैं।

80% मौजूदा प्रधान, BDC और जिला पंचायत सदसय नहीं लग पाएगे चूनाव

80% Old Pradhan are not eligable
2 Child Rule in UP Panchayat Chunav
FAQ
उत्तर प्रदेश ग्राम पंचायत चुनाव कब होगा?

चायत चुनाव संभवतः नवंबर दिसंबर 2020 में होने थे. लेकिन कोरोना महामारी के चलते पंचायत चुनाव वर्ष 2021 में होने की संभावना जताई जा रही है।

पंचायत चुनाव की अधिसूचना कब जारी होगी?

कोरोना महामारी के चलते तैयारियां नहीं होने पाने के कारण त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव समय से नहीं हो पाएंगे। पंचायती संस्थाओं का कार्यकाल पूरा होने से पहले ही उनमें प्रशासक तैनात कर दिए जाएंगे।

प्रदेश में कितनी पंचायतो में चुनाव होने जा रहे है?

उत्तर प्रदेश में 58758 ग्राम पंचायत, 821 क्षेत्र पंचायत और 75 जिला पंचायत पर चुनाव होंगे।

यूपी पंचायत चुनाव में टू-चाइल्ड पॉलिसी क्या हो सकती है?

केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री संजीव बालियान ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर मांग की है की दो से अधिक बच्चो वाले परिवार को चुनाव लड़ने का अधिकार ना दिया जाए. इस पर अभी तक कोई भी फैसला नहीं लिया गया है.

क्या पंचायत चुनाव में नोटा का विकल्प हो सकता है?

जी हाँ. लकिन अभी तक चुनाव आयोग द्वारा इस पर कोई भी पुस्टी नहीं की गयी है.

यूपी पंचायत चुनाव की आधिकारिक वेबसाइट क्या है?

पोर्टल का नाम है http://sec.up.nic.in/site/

1 thought on “ग्राम पंचायत चुनाव उत्तर प्रदेश 2020 प्रधान/सरपंच जिला वार तारीख”

  1. Up main 2 child policy honi chahiye, Gunde ban jaate hai Gram pradhan, 10+2 Pass hona Jaruri hai, भेड़ बकरी sab चुनाव लड़ने lag jaate hai, Kha se गाँव ka bhala hota hai

    Reply

Leave a Comment