चरण पादुका योजना मध्यप्रदेश | Charan Paduka Scheme

चरण पादुका योजना मध्यप्रदेश | Charan Paduka Scheme चप्पल वितरण:- दोस्तों जैसा की आप को पता होगा की मध्य प्रदेश सरकार ने चरण पादुका योजना नामक योजना की शुरुआत की है। यह योजना मुख्यमंत्री शिवराज चौहान की महत्वकाक्षी योजना है। मध्य प्रदेश में बरोथा गांव की घटना के दौरान मुख्यमंत्री शिवराज चौहान ने योजना की घोषणा की। चरण पदुका योजना का मुख्य उद्देश्य लोगों को चप्पल और जूते वितरित करना है। इस महत्वाकांक्षी योजना के तहत लोगों को केलो जल की बोतल भी दी जाएगी। इसके अलावा बोनसट्टा कलेक्टरों के लिए 500 रुपये का बोनस के रूप में दिया जाएगा।

इस के इलाबा सरकार महुआ फूलों को इकठा करने बालो को,अचार फल कलेक्टर, महुआ फूल कलेक्टर और अन्य लकड़ी के पोक्स इकठा करने बाले लोगो के पक्ष में विभिन्न योजनाएं भी लाई जा सकती हैं। मुख्यमंत्री चौहान ने अब तक सिंगरौली, सीधी, सिवनी, गुना, शहडोल, छतरपुर, खण्डवा, रीवा, रतलाम, इंदौर, मुरैना, मंदसौर, दमोह, सागर एवं रायसेन जिलों में हुए तेंदूपत्ता संग्राहक सम्मेलन में तेंदूपत्ता संग्राहक महिलाओं एवं पुरूषों को मंच पर जूते-चप्पल पहनाए हैं। चौहान ने इस दौरान मंच से कहा, ‘मैं तेंदूपत्ता बीनने वालों को जूते-चप्पल पहनाने में आनंद महसूस करता हूं। अब इन तेंदूपत्ता संग्राहकों के न तो पैर जलेंगे और न ही कांटे चुभेंगे।’

चरण पादुका योजना

मध्य प्रदेश राज्य के कुछ क्षेत्रों के आदिवासी तेदुपत्ता जिसका उपयोग बीडी निर्माण के लिए प्रयोग किया जाता है को इक्कठा कर बाज़ार में बेचने से प्राप्त आय से अपना जीवन निर्वाह करते हैं। जिससे प्रदेश सरकार को राजस्व की प्राप्ति होती है। तेंदुपत्ता इक्कठा करने वाले आदिवासी आर्थिक रूप से कमजोर होने के कारण पत्ते इक्कठे करने के दौरान नंगे पाँव जंगलों में फिरते हैं। जिसकी वजह से उनके पैरों में काँटे चुभने एवं छाले पड़ जाते हैं  तथा  कभी -कभी जहरीले साँप ,बिच्छू आदि के काटने पर मृत्यु तक हो जाती है।

उनके इस समस्या के समाधान हेतु राज्य सरकार द्वारा पुरुषों के पैरों के लिए वर्ष में एक जोड़ी जूता एवं पानी की कुप्पी तथा महिलाओं के लिए वर्ष में एक जोड़ी चप्पल, साड़ी एवं पानी की कुप्पी वितरित किया जाएगा। इस योजना का नाम चरण पादुका योजना है. इसके अतिरिक्त उनकी आर्थिक मदद हेतु बोनस एवं पूर्व में निर्धारित मजदूरी की राशि में भी वृद्धि किये जाने की घोषणा की गई है।

चरण पादुका योजना

Madhya Pradesh govt. is going to provide shoes for male and sarees & footwears for female tendupatta pluckers under Charan Paduka Yojana (चरण पादुका योजना). MP govt. will launch this scheme for the welfare of tendupatta sangrahaks (तेंदूपत्ता संग्राहक) and labourers. In addition, govt. will also provide flasks for water (पानी की कुप्पी) and will also distribute bonus amount (बोनस राशि). Govt. will launch Charan Paduka Yojana at the Tendupaata Sangrahak Sammelan. Madhya Pradesh Govt. will launch this tendupatta abhiyan for the welfare of forest dwellers (वनवासी). Govt. will provide 16.50 crore to 56,000 families of Sidhi district (सीधी ज़िला).

चरण पादुका योजना मध्य प्रदेश 2020 के लाभ

  •  योजना के तहत मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा तेदुपत्ता , महुए के फूल एवं आम की गुठली संग्राहक आदिवासी श्रमिकों के लिए बोनस का प्रावधान किये जाने की भी घोषणा सम्मेलन में किया गया है।
  • इसके अतिरिक्त तेंदुपत्ता इक्कठे करने वाले श्रमिको की मजदूरी प्रति बोरी रूपए 1250 से बढ़ाकर रूपए 2000 बोरी किये जाने की घोषणा की गई है।
  • महुए के फूल  रूपए 14 प्रति किलो से बढ़ाकर रूपए 30 प्रति किलो किये जाना है।
  • आम की गुठली रूपए 100 प्रति किलो खरीदे जाने का निर्धारण किया गया है।
  • एक अनुमान के अनुसार योजना के तहत मध्य प्रदेश राज्य के  21.35 लाख तेंस्दुपत्ता संग्राहकों को लाभ प्राप्त होगा।

चरण पादुका स्कीम

इसलिए मध्य प्रदेश राज्य औसत पर देश में कुल तेंदु पट्टा का 60% उत्पादन कर रहा है। और इसके लिए वे सालाना 1500 से 2000 मिलियन कमा रहे हैं। मध्य प्रदेश राज्य सरकार इस सरकारी योजना के उचित कार्यान्वयन के लिए और भी अन्य लाभ दे रही है। अब ऐसे सभी तेंदुपा प्लकर्स की मदद के लिए मध्य प्रदेश राज्य सरकार ने ये कदम उठाए।

चरण पादुका योजना 2020 के माध्यम से राज्य सरकार उन श्रमिकों के उचित विकास के लिए काम कर रही है। इसलिए, जैसा कि इस लेख में पहले उल्लेख किया गया है, राज्य सरकार कुछ प्रोत्साहन प्रदान करने के लिए इस सरकारी योजना को लॉन्च कर रही है।

Leave a Comment